राष्ट्रपति चुनाव: छत्तीसगढ़ में भी क्रॉस वोटिंग, कांग्रेस के दो विधायकों ने यशवंत सिन्हा को नहीं दिया वोट

रायपुर। देश के 15 वें राष्ट्रपति चुनाव के लिए हुए मतदान में एनडीए प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू ने जीत दर्ज कर ली है। द्रौपदी मुर्मू राष्ट्रपति की शपथ 25 जुलाई को लेंगी। गुरुवार को हुई वोटों की गिनती के डिटेल्स आने के बाद उसमें छत्तीसगढ़ से क्रॉस वोटिंग का खुलासा हुआ है। राष्ट्रपति चुनाव में छत्तीसगढ़ के दो कांग्रेस विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की है। कांग्रेस समर्थित यशवंत सिन्हा को छत्तीसगढ़ के दो कांग्रेस विधायकों के वोट नहीं मिले हैं।

यशवंत सिन्हा को छत्तीसगढ़ से सिर्फ 69 वोट ही मिले हैं, जबकि यहां कांग्रेस विधायकों की संख्या 71 है। वहीं द्रौपदी मुर्मू को 21 वोट मिले हैं।

बता दें कि छत्तीसगढ़ में कुल 90 विधानसभा सीट हैं, इसमें से कांग्रेस के विधायकों की संख्या 71, भाजपा विधायकों की संख्या 14, जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जेसीसीजे) के 3 और बहुजन समाज पार्टी के 2 विधायक हैं। लेकिन कांग्रेस के 71 विधायक होने के बावजूद यशवंत सिन्हा को 69 वोट मिले हैं।

जबकि राष्ट्रपति चुनाव को लेकर कांग्रेस ने यशवंत सिन्हा को समर्थन देने की अपील की थी और उन्हें पूरा समर्थन दिया था। लेकिन छत्तीसगढ़ में दो विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की है। ऐसे में सवाल उठता है कि वह कौन से कांग्रेस के विधायक है जिन्होंने द्रौपदी मुर्मू को अपना समर्थन देते हुए उनके पक्ष में मतदान किया